मेरी मित्र सूची - क्या आप सूची में है ?

Monday, July 16, 2012

कश-म-कश


निशब्द ,निस्तेज ,निरीह सी 
पाँव कुछ बंधे-बंधे से, पर 
हस्त-उँगलियों में अजीब सी थिरकन 
दिमाग कुछ अशांत और
दिल में कुछ उथल-पुथल
आँखें पथराई सी ,पर
निहारती ‘पथ’ किसी का
अजीब कश-म-कश,जैसे कोई भंवर
अजनबी ,अनजान सी तलाशती
‘मंजिल’ छुपी धुंधलके में किसी ...........पूनम (ss)