मेरी मित्र सूची - क्या आप सूची में है ?

Tuesday, November 13, 2012

माँ लक्ष्मी का वरद हस्त हम पर मेहरबान हो ..

इस दीपावली सदविचारों का संचार हो 
कलह-क्लेश का शमन शांति स्नेह का प्रसार हो 
वाणी कर्म और बुद्धि पर सरस्वती का वास हो 
माँ लक्ष्मी का वरद हस्त हम पर मेहरबान हो 

लक्ष्मी चंचला ,स्थान एक ठहरती नहीं
मूढ़, अज्ञानी मानव की चाहे कभी भरती नहीं
सांसारिक माया ,इंसा की झोली कभी भरती नहीं
गुज़ारिश भगवान से ,संतुष्टि का हमें वरदान हो

राम जी की अयोध्या वापसी खुशियाँ ले आती हैं
हर वर्ष लक्ष्मी पूजन को घर-दुकाने सज जाती हैं
पर महंगाई की मार गरीब की खुशियाँ छीन ले जाती है
दीपोत्सव पर गम की लकीरें मिटें ऐसा कुछ अनुदान हो

प्रदूषण का दानव रहा है बाहें पसार
वातावरण में विष का हो रहा है संचार
माटी ,जल, वायु कुछ नहीं स्वच्छ देने को उपहार
छोड़े नहीं पटाखे तो अग्नि,जल, पवन देव मेहरबान हों


माँ लक्ष्मी का वरद हस्त हम पर मेहरबान हो ................. ...........पूनम .

आओ मिलकर मिटटी के दीप जलायें
अपना जहाँ जगमगाएं ,दीपावली मनाएं