मेरी मित्र सूची - क्या आप सूची में है ?

Saturday, August 4, 2012

आत्मचिंतन



खुद से खुद को मिलने की फुर्सत नहीं
ज़माने से मिला करते हैं हम

मुस्कुराकर रिप्लाई करते हैं सबको
ज़हन में अपने हज़ारों प्रश्न रखते हैं हम

आइये ,कभी खुद से खुद की मुलाक़ात कर लें
एक पल तो अपने भी दिल से चैन से बात कर लें

कल फिर मौका मिले न मिले
आज ही इन प्रश्नों से नज़रें दो चार कर लें

आओ ना ! बैठें, झाँक लें भीतर
कुछ अपने गम और खुशियों का भी हिसाब कर लें

दुनिया की भीड़ हर पल चारों ओर से घेरे है
कुछ समय तो आत्म-चिंतन भी कर लें ......पूनम (N)